रायगढ़ : लड़की से बात करना छात्र को पड़ा भारी, बॉयफ्रेंड ने स्कूल में घुसकर की छात्र की हत्या

छात्र की हत्या

स्कूल की एक लड़की से बात करना नौवीं के छात्र पर भारी पड़ गया। छेड़छाड़ समझ कर लड़की ने अपने बॉयफ्रेंड को यह बताया। नाबालिग बॉयफ्रेंड अपने दोस्त के साथ आया और स्कूल में घुसकर छात्र की चाकू घोंपकर हत्या कर दी। पुलिस ने बॉयफ्रेंड को बुलाने वाली छात्रा को हिरासत में लिया जबकि हत्या के आरोपी और उसके साथी को गिरफ्तार कर लिया है।

मंगलवार दोपहर कैलाश नाथ काटजू स्कूल रामभांठा परिसर में सरकारी नवीन एमएस इंग्लिश मीडियम स्कूल में सबकुछ सामान्य दिख रहा था। कुछ क्लासेज होने के बाद दोपहर लगभग 1.20 बजे लंच ब्रेक हुआ । क्लास से बाहर से आकर बच्चे आपस में बातें करने लगे ।

इसी बीच दो किशोर पहुंचे। उन्होंने सागर टंडन (14) को बुलाया। गाली गलौज की, बोले- तुम्हें कई बार मना किया है कि उससे (स्कूल की लड़की) से बात मत किया करो। बहस के बाद सागर अंदर चला गया। थोड़ी देर में ही आरोपी नाबालिग अपने दोस्त के साथ स्कूल में घुसा। मेस एरिया के नजदीक उन्होंने सागर टंडन की नाभी के निचले हिस्से में चाकू घोंप दिया। सागर बदहवास होकर स्टाफ रूम की तरफ भागा।

स्कूल में प्रिंसिपल नहीं थे। महिला शिक्षिकाएं वारदात देखकर घबरा गईं। प्रिंसिपल को फोन कर बुलाया। स्कूल परिसर में हड़कंप था, कुछ छात्र डर से निकल गए वहीं सागर के साथ पढ़ने वाले छात्रों ने उसे उठाया। उसे लगभग 150 मीटर की दूरी पर स्थिति रामभाटा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए।

यहां डॉक्टर ने जख्म गहरा होने और खून ज्यादा बहने की बात कहकर तुरंत मेकाहारा ले जाने की सलाह दी। इस बीच कुछ साथियों ने 108 और 112 को फोन किया लेकिन एम्बुलेंस समय पर नहीं पहुंच सका। अब तक सागर की मां और उसके परिजन पहुंच चुके थे।

पास खड़े एक ऑटो को बुलाकर उस पर लिटाकर सागर को मेकाहारा (केजीएच) ले जाया गया। यहां कैजुअल्टी में डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने एक आरोपी को धांगरडीपा से और दूसरे को कनकतुरा इलाके से पकड़ा।


सागर की चाकू घोंपकर हत्या करने वाला आरोपी और उसका साथी नाबालिग हैं। दोनों स्कूल नहीं जाते हैं। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक दोनों आवारा लड़के हैं। प्राइवेट संस्थानों में काम करते हैं । प्रारंभिक पूछताछ में जो बात सामने आई है

उसके मुताबिक छात्रा को दोस्ती मुख्य आरोपी से थी । राजीव नगर इलाके की रहने वाली छात्रा से सागर बातें करता था, यह बातें वह आरोपी को बताती थी हालांकि उसे सागर के बात किए जाने से आपत्ति नहीं थी क्योंकि उसने कभी भी स्कूल प्रबंधन से उसकी शिकायत नहीं की।


दोपहर 2 बजे हमलावर किशोरों की पहचान होने के बाद सागर के परिजन और मोहल्ले के युवक खून का बदला खून की बात कह धांगरडीपा गए। एडिशनल एसपी अभिषेक वर्मा को इसकी भनक लगी और तुरंत कोतरा रोड और कोतवाली से पुलिस की टीमें धांगरडीपा इलाके में तैनात की गई ताकि यहां खूनखराबा न हो। समझाइश देकर पुलिस ने मामला शांत कराया। पुलिस धांगरडीपा के साथ ही रामभाटा इलाके में तैनात रही। वारदात के 7 घंटे के भीतर ही दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया।

स्कूल के स्टाफ रूम के बाहर स्लोगन लिखा है...दुनिया की सबसे बड़ी शक्ति मीठी वाणी है। चाकू लगने के बाद दौड़ता हुआ सागर यहीं पहुंचा और गश खाकर गिरा। दसवीं की छात्रा से बातचीत के बाद कई दिनों से चल रहे विवाद पर किसी ने हस्तक्षेप नहीं किया और बात हत्या तक पहुंच गई।


लंच ब्रेक के वक्त परिसर के बाहर पहुंचे नाबालिग आरोपियों ने सागर को पीटा। सागर स्कूल के भीतर गया और लड़की को यह कहते हुए दो चांटे जड़े कि उसने उनके बीच हुई बातचीत धांगरडीपा के लड़कों को क्यों बताई। लड़की फिर बाहर गई

और दोनों आरोपियों से कहा, तुम लोगों को सागर को चमकाने के लिए बुलाई थी फिर उससे (सागर से) मारपीट क्यों कर रहे हो, वह गुस्से में मुझे थप्पड़ मार रहा है। इतना सुनकर आरोपी तमतमा गया, स्कूल परिसर में घुसा और सागर को चाकू मार दिया। पुलिस ने दो आरोपी नाबालिगों को गिरफ्तार करने के साथ ही छात्रा को हिरासत में लिया है। हालांकि अभी उससे सिर्फ पूछताछ करने की बात कही जा रही है।

Share this story