हो जाते हैं ऑफिस पॉलिटिक्स के शिकार ऐसे करे दूर ...

office politics 2021
मज़ाक करने की सीमा तय करें. बेहतर होगी कि मज़ाक में शामिल न हों.
क्या आप भी ऑफिस पॉलिटिक्स से परेशान हैं? अगर हां तो फिर हम आपको इसका समाधान बता रहे हैं. आम तौर पर किसी खास इम्पलॉइ को प्रमोशन या बॉस से मदद मिलने की वजह से कई चर्चाएं शुरू हो जाती हैं. इस चर्चा को कई लोग अलग-अलग रंग देने की भी कोशिश करते हैं. ऑफिस पॉलिटिक्स को टालना तकरीबन असंभव है. इसकी वजह यह है कि लोगों का कोई न कोई समूह इस तरीके से कुछ साधने और ताकत बढ़ाने के प्रयासों में जुटा रहता है. लेकिन गुड ऑफिस पॉलिटिक्स भरोसा बढ़ाने के साथ ही कामकाज की स्पीड भी बढ़ाता है. इससे इम्प्लॉइ के बीच सहयोग भी बढ़ता है.
सिर्फ कर्मिया ही नहीं बाल्की मालिको को भी ध्यान देने की जरूरत है
केई बार लोग अपने कार्यस्थल पर अन्य कर्मियो की वजह से परशान हो कर के बार नौकरी बदलते हैं
जिसमे महिला वर्ग ज्‍यादातर शामिल रहती है

1. हर बात शेयर न करें
ऑफिस में सभी के साथ मिलकर रहना अच्छी बात है, लेकिन कलीग के साथ अपनी पर्सनल और जॉब से जुड़ी बातों को शेयर करने से बचें. सैलरी पैकेज और इंक्रीमेंट के बारे में भी सहकर्मियों को न बताएं.

क्या करें:
यदि कोई आपसे सैलरी के बारे में पूछते है, तो हंसते हुए यह कहकर टाल दें कि किसी की सैलरी के बारे में नहीं पूछना चाहिए, ऐसा करके आगे आनेवाली परेशानियों से बचा जा सकता है.

2. सर्तक रहे

ऑफिस में क्या चल रहा है, इसकी ख़बर रखें और अपने काम को लेकर सतर्क रहें. काम समय पर पूरा करें और इस बात की जानकारी रखें कि आपके कलीग किस तरह काम करते हैं. आपकी आसपास किस तरह के लोग हैं और वो आपके खिलाफ किस तरह की रणनीति बनाते हैं. इस बात की जानकारी रखें कि कहीं आपका नाम बेकार की गॉसिप में तो नहीं घसीटा जा रहा.

क्या करें
अगर आपको लगता है कि लोग आपके बारे में बेकार की बातें कर रहें हैं या किसी बात में आपका नाम घसीटा जा रहा है, तो इस बारे में बात करके मामला सुलझाएं. हमेशा अपना स्टैंड क्लीयर रखें.

3. खुद परखें
किसी दूसरे की बातों में न आए. यदि कोई दूसरा सहकर्मी किसी अन्य के काम या स्वभाव के बारे में कुछ कहता है, तो उस पर आंख बंद करके विश्‍वास न करें. उस कलीग का स्वभाव कैसा है, ख़ुद जानने का प्रयास करें.
क्या करें सहकर्मी पर विश्‍वास करे, लेकिन अंधविश्‍वास नहीं.

4. विनम्र बनें
ऑफिस में सभी के साथ विनम्र व्यवहार करें. अच्छा व्यवहार सभी को आकर्षित करता है और इसी गुण की वजह से दूसरे लोग भी आपके साथ अच्छा व्यवहार करते है.

क्या करें
जूनियर हों या सीनियर सबके साथ अपना व्यवहार सही बनाए रखें. किसी भ बात पर न तो ज़्यादा ख़ुश हों और न ही ग़ुस्से में किसी को बुराभला कहें.

5. तटस्थ रहें

ऑफिस के सहकर्मियों के साथ बातचीत के दौरान तटस्थ रहना सीखें. यदि कोई चुगली करता है, ते आप अपनी ओर उस पर कोई कमेंट न करें, क्योंकि जो आपके सामने दूसरों की चुगली कर रहा है, वो दूसरों के सामने आपकी भी बुराई कर सकता है.

क्या करें
अपने आपको ऑफिस गॉसिप से दूर रखें. किसी भी दबाव में ग़लत का साथ न दें. अपना पक्ष रखना सीखें.

6. ग़लतियां स्वीकारें
यदि काम के दौरान आपसे कोई ग़लती हो गई है, तो उसे स्वीकार करें. यह एक ऐसी क्वालिटी है, जो ऑफिस पॉलिटिक्स से बचाने में सबसे ज़्यादा कारगर है.

क्या करें
ग़लती पता होने पर भी बहस न करें. इससे आपकी छवि ख़राब होती है.

7. कम्युनिकेशन गैप न रखे
अगर कोई बेवजह आपको ऑफिस पॉलिटिक्स का शिकार बना रहा है, तो सीधे उससे बात करें और विनम्रता से पूछें कि वह ऐसा क्यों कर रहा है. अगर वह समझदार होगा तो अपनी ग़लती के लिए आपसे माफी मांग लेगा. वरना उसके द्वारा शुरू की गई लड़ाई को आपको अंत तक पहुंचाना होगा और ख़ुद की काबिलियत साबित करनी होगी.

क्या करें
यदि सब कुछ सही चलने के बाद भी आप ऑफिस पॉलिटिक्स का शिकार हो रहे हैं, तो बिना देर किए बॉस से मिलकर अपना पक्ष रखें.

8. अपनी लिमिट समझें

सहकर्मियों के साथ बात करते हुए अपनी सीमाओं का ध्यान रखें. कभी भी कोई ऐसा मज़ाक न करें, जिससे कोई आहत हो, साथ ही ऑफिस में किसी के द्वारा किए गए मज़ाक को गंभीरता से न लें.

क्या करें
मज़ाक करने की सीमा तय करें. बेहतर होगी कि मज़ाक में शामिल न हों.

Share this story