किसानों को अब घर बैठे किराए पर मिलेंगे कृषि उपकरण और ट्रैक्टर,बस इस ऐप का करना है इस्तमाल

किसानों

छोटी जोत के किसान अक्सर महंगे कृषि उपकरण खरीद नहीं पाते. यही कारण है कि वे कई बार खेतों में जरूरी काम नहीं करा पाते. किसानों को ऐसी समस्याओं से उबारने के लिए ही है सीएचसी-फार्म मशीनरी ऐप (FARMS- Farm Machinery Solutions). केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय के इस ऐप पर रजिस्टर के बाद किसान घर बैठे किराए पर सभी कृषि उपकरण मंगा सकते हैं. किसान इस ऐप के माध्यम से बड़े आसानी से ट्रैक्टर और दूसरे कृषि मशीनरी किराए पर मंगा सकते हैं.


इस ऐप को डाउनलोड करने के बाद आपको इसमें अपनी पूरी जानकारी भरनी होगी, जैसे नाम, प्रदेश, जिला, तहसील, ब्लॉक और गाँव, साथ ही किसान के पास कितनी कृषि योग्य जमीन है, उसकी जानकारी भी भरनी होती है. इसके बाद किसान अपने काम के अनुसार यंत्र या मशीन पर किराए पर मंगा सकते हैं.

यह ऐप 12 भाषाओं में है. किसान ऐप डाउनलोड करने के बाद ही अपनी भाषा का चयन की सकते हैं. कृषि मंत्रालय का कहना है कि वे छोटे और सीमांत किसानों तक ज्यादा से ज्यादा फायदा पहुंचाने के लिए इस योजना पर काम कर रहे हैं और किसानों को इससे फायदा भी हो रहा है.

इस ऐप की एक खास बात ये भी है कि यहां किसान और व्यापारी दोनों एक ही मंच पर होंगे. किसान जो मशीन किराएं पर लेंगे उसे भजेंगे तो व्यापारी ही, वह भी सस्ती दरों पर. ऐप पर अभी लगभग 40,000 कस्टम हायरिंग सेंटर रजिस्टर्ड हैं, जिनकी मदद से 1,20,000 कृषि मशीनरी और उपकरण किराए पर लिए जा सकते हैं. किसानों को यह सुविधा 50 किमी के दायरे में ही मिलेगी.


इस ऐप को डाउनलोड करने के लिए आपको सबसे पहले गूगल प्लेस्टोर में जाना होगा. वहां हिंदी या अंग्रेजी में लिखना होगा FARMS- Farm Machinery Solutions. डाउनलोड बटन पर क्लिक करते ही ऐप डाउनलोड हो जाएगा.

लगभग 15 एमबी के इस ऐप को डाउनलोड के लिए आपको बहुत ज्यादा स्पेस भी नहीं चाहिए होगा. एक बार जब इस ऐप पर रजिस्ट्रेशन कर लेंगे तो आप भारत सरकार के किसान रथ ऐप पर रजिस्टर्ड हो जाएंगे जो उपज घर से मंडी तक ले जाने में मदद करता है.

Share this story