रामायण यात्रा ट्रेन : IRCTC शुरू कर रहा रामायण यात्रा ट्रेन, 7 नवंबर को रवाना होगी ट्रेन जानें कितना है किराया

IRCTC शुरू कर रहा रामायण यात्रा ट्रेन
IRCTC ने धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए AC मॉडर्न पैसेंजर ट्रेन चलाने का प्लान

भगवान श्रीराम में भक्तों के लिए भारतीय रेलवे (Indian Railways) एक बड़ी खुशखबरी लेकर आया है. IRCTC ने धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए AC मॉडर्न पैसेंजर ट्रेन चलाने का प्लान बनाया है. ये ट्रेन खास श्री रामायण यात्रा (Shri Ramayana Yatra) के लिए चलाई जा रही है ताकि श्रद्धालु श्रीराम के जीवन से जुड़े स्थलों का भ्रमण कर सकें और यात्रा का लुत्फ उठा सकें.
7 नवंबर को रवाना होगी ट्रेन

आईआरसीटीसी (IRCTC) ने धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए 'देखो अपना देश' की पहल के तहत डीलक्स एसी टूरिस्ट ट्रेन चलाने का फैसला किया है. यह ट्रेन श्री रामायण यात्रा के लिए चलाई जा रही है जो 7 नवंबर को दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से रवाना होगी. ये ट्रेन पर्यटकों को प्रभु श्रीराम से जुड़े सभी महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों का भ्रमण व दर्शन कराएगी. पहले भी यह यात्रा 3 बार आयोजित की गई थी, जिसमें केवल स्लीपर क्लास से ही यात्रा सुविधा उपलब्ध थी. लेकिन पहली बार आधुनिक सुविधाओं के साथ तैयार AC पैसेंजर ट्रेन, इस अनूठी यात्रा के लिए चलाई जा रही है.
17 दिनों की होगी यात्रा

पूरी यात्रा में कुल 17 दिन लगेंगे. यात्रा का पहला पड़ाव श्रीराम का जन्म स्थान अयोध्या (Ayodhya) होगा, जहां श्रीराम जन्मभूमि मंदिर श्री हनुमान मंदिर व नंदीग्राम में भरत मंदिर का दर्शन कराया जाएगा. अयोध्या से रवाना होकर यह ट्रेन सीतामढ़ी (Sitamarhi) जाएगी, जहां जानकी जन्म स्थान और नेपाल के जनकपुर स्थित राम जानकी मंदिर का दर्शन प्राप्त किया जा सकेगा. ट्रेन का अगला पड़ाव भगवान शिव की नगरी काशी (Kashi) होगा, जहां से यात्री बसों से काशी के प्रसिद्ध मंदिरों सहित सीता समाहित स्थल, प्रयाग, श्रृंगवेरपुर, व चित्रकूट की यात्रा करेंगे. इस दौरान काशी प्रयाग व चित्रकूट (Chitrakoot) में नाइट स्टे होगा.

इसके बाद चित्रकूट से चलकर यह ट्रेन नासिक (Nashik) पहुंचेगी, जहां पंचवटी व त्रयंबकेश्वर मंदिर का टूर किया जा सकेगा. नासिक के बाद प्राचीन किष्किंधा नगरी हंपी इस ट्रेन का अगला पड़ाव होगा, जहां अंजनी पर्वत स्थित श्री हनुमान जन्म स्थल व अन्य महत्वपूर्ण धार्मिक व विरासत मंदिरों का दर्शन कराया जाएगा. इस ट्रेन का अंतिम पड़ाव रामेश्वरम (Rameshwaram) होगा. रामेश्वरम में पर्यटकों को प्राचीन शिव मंदिर व धनुषकोडी का दर्शन लाभ प्राप्त होगा. रामेश्वरम से चलकर यह ट्रेन 17वें दिन दिल्ली वापस पहुंचेगी. इस दौरान ट्रेन द्वारा लगभग 7500 किलोमीटर की यात्रा पूरी की जाएगी.
ट्रेन में मिलेंगी कई सुविधाएं

अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस इस एयर कंडिशन्ड पैसेंजर ट्रेंन में यात्री कोच के अतिरिक्त दो रेल डाइनिंग रेस्तरां एक मॉर्डन किचन कार व यात्रियों के लिए फुट मसाजर मशीन (Foot Massage Machine), मिनी लाइब्रेरी, मॉर्डन एवं स्वच्छ शौचालय और शॉवर क्यूबिकल आदि की सुविधा भी उपलब्ध होगी. साथ ही सुरक्षा के लिए सुरक्षा गार्ड, इलेक्ट्रॉनिक लॉकर एवं सीसीटीवी कैमरे भी प्रत्येक कोच में उपलब्ध रहेंगे.


AC फर्स्ट क्लास की यात्रा के लिए 1,02,095 रुपये का टिकट रखा है. वहीं 2 टीयर एसी कोच के लिए आपको 82,950 रुपये चुकाने होंगे. इस टूर पैकेज की कीमत में यात्रियों को रेल यात्रा के अतिरिक्त स्वादिष्ट शाकाहारी भोजन, वातानुकूलित बसों के जरिए पर्यटक स्थलों का भ्रमण, एसी होटलों में ठहरने की व्यवस्था, गाइड और इंश्योरेंस जैसी सुविधाएं दी जाएंगी. सरकार/पीएसयू के कर्मचारी इस यात्रा पर वित्त मंत्रालय, भारत सरकार की तरफ से जारी दिशा-निर्देशों के आधार पर पात्रता के अनुसार एलटीसी सुविधा का फायदा भी उठा सकते हैं.
कैसे करें यात्रा की बुकिंग?

इस यात्रा की बुकिंग के लिए उम्र 18 या उससे अधिक होनी चाहिए. वहीं आपको कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगी होनी चाहिए. आप आईआरसीटीसी की ऑफिशियल वेबसाइट https://www.irctctourism.com पर जाकर आप इस ट्रेन की टिकट ऑनलाइन बुक कर सकते हैं. ध्यान रहे कि बुकिंग की सुविधा वेबसाइट पर, पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर उपलब्ध है. अधिक जानकारी के लिए 8287930202, 8287930299 और 8287930157 मोबाइल नंबरों पर संपर्क भी किया जा सकता है.

Share this story