शरीफ चोर ... चोरी कर बोले 6 माह बाद कर देंगे वापस, और लूटकर ले गए नगदी व जेवरात

chor

आमतौर पर लूट के मामलों में अक्सर देखा जाता है कि लुटेरे अपने शिकार को नुकसान पहुंचाकर वारदात को अंजाम देते हैं। लेकिन गाजियाबाद के राजनगर में लूट की अनोखी वारदात को अंजाम दिया गया है। इस वारदात में लुटेरों ने बुजुर्ग दंपति को बंधक बनाया, घर में रखे नगदी और जेवरात पर हाथ साफ किया। इसके बाद जाते हुए दंपति का पैर छूकर 500 रुपए देते हुए माफी मांगी और 6 माह बाद नगदी और जेवरात लौटाने की बात भी कही।

गाजियाबाद: राजनगर में बुजुर्ग कारोबारी और उनकी पत्नी को बंधक बनाकर लूटपाट करने का एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। राजनगर सेक्टर-9 में पूर्व मेयर आशु वर्मा की कोठी के पास बुजुर्ग दंपती सुरेंद्र वर्मा और उनकी पत्नी अरुणा वर्मा रहते हैं। पूर्व में बुलंदशहर रोड औद्योगिक क्षेत्र में उनकी फैक्टरी थी, जो उन्होंने बंद कर दी थी।

सुरेंद्र वर्मा की तीन शादीशुदा बेटियां हैं, जो विदेश में रहती हैं। सोमवार की रात करीब साढ़े तीन बजे चार नकाबपोश हथियारबंद बदमाशों ने गैस कटर से लोहे का गेट काटा और फिर शीशा तोड़कर उनके घर में घुस गए।

एक बदमाश के हाथ में तमंचा और तीन बदमाशों के हाथ में चाकू थे। दंपती को बंधक बनाकर बदमाशों ने डेढ़ लाख रुपए और चार लाख के जेवर लूट लिए। सूचना पाकर मौके पर पहुंची कविनगर पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

Share this story